Breaking News :

केन्द्र पोषित योजनाओं पर मुख्यमंत्रियों वाली उप-समिति की प्रथम बैठक      मुख्यमंत्री ने की प्रधानमंत्री से मुलाकात, अति वृष्टि प्रभावित कृषकों के लिये मांगी इमदाद       अटलजी को राष्‍ट्रपति मुखर्जी ने घर जाकर दिया भारत रत्‍न सम्‍मान      अर्थपूर्ण जीवन के लिये भगवान श्रीराम के गुणों को अपनायें- शिवराज सिंह      प्रायोगिक परीक्षा के अंक अविलम्ब जमा करें अंक जमा करने की अन्तिम तिथि 31 मार्च      ग्राम पंचायत के समस्त अभिलेख सामग्री पंचायत सचिव के पास      अटलजी का भारत रत्न से अभिनंदन राष्ट्र की प्रतिभा और महानता का सम्मान है- नंदकुमार       कांग्रेस के तीन दिनी आंदोलन का हो गया समापन, अब लड़ाई फिल्‍ड में....     

राज्य मंत्रालय

 

अन्य क्षेत्रों के समाचार

 

राज्‍य मंत्रालय में 15 सहायक-1 अनुभाग अधिकारी बने

राजकाज न्‍यूज, भोपाल राज्‍य शासन के सामान्‍य प्रशासन विभाग ने मंत्रालयीन सेवा के 15 सहायक ग्रेड-1 को अनुभाग अधिकारी के पद पर पदोन्‍नत कर उनकी पदस्‍थापना के आदेश

 

समस्याएं सुलझाने मुख्य सचिव से मिले नागरिक

राजकाज न्‍यूज, भोपाल मुख्य सचिव अन्टोनी डिसा ने आज उनसे साप्ताहिक भेंट में मिलने आए आवेदक से प्राप्त आवेदन पत्रों पर समस्या निवारण के निर्देश

स्व-प्रमाणित घोषणा-पत्र की संधारण अवधि 20 वर्ष रहेगी

राजकाज न्‍यूज, भोपाल राज्य शासन द्वारा किसी भी प्रयोजन के लिये स्थानीय निवासी प्रमाण-पत्र हेतु तहसीलदार, अपर तहसीलदार या नायब तहसीलदार द्वारा जारी किये गये प्रमाण-पत्र की व्यवस्था

 

मंत्रालय के छह अधिकारी पदोन्नत

राजकाज न्‍यूज, भोपाल सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मंत्रालय सेवा के छह अधिकारी एवं एक निज सचिव के पदोन्नति आदेश जारी किए गए हैं। क्र.

 

प्रशासन अकादमी का स्वर्ण जयंती वर्ष, मुख्य कार्यक्रम-1 एवं 2 मई को

मुख्य सचिव ने की तैयारियों की समीक्षा राजकाज न्‍यूज, भोपाल भोपाल की आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी के 50 वर्ष पूरे होने

वेबसाइट पर रहेगी पेंशन की स्थिति, पेंशनर इसी माह से देख सकेंगे अपने प्रकरण

राजकाज न्‍यूज, भोपाल संभागीय पेंशन कार्यालय भोपाल द्वारा माह फरवरी से पेंशन प्रकरणों की अद्यतन स्थिति ऑनलाइन की जा रही है। इस प्रक्रिया में प्रत्येक पेंशन प्रकरण को एक

आकस्मिकता निधि बढ़कर 500 करोड़ हुई

राजकाज न्‍यूज, भोपाल मध्यप्रदेश की आकस्मिकता निधि अब 200 करोड़ से बढ़कर 500 करोड़ रूपये हो गयी है। इस संबंध में विधानसभा में पारित संशोधन विधेयक को राज्यपाल